image
image image image image image image

Office bearers
+-

Office bearers

  • Com. Animesh Mitra

    [ President ]
  • Com. P. Abhimanyu

    [ General Secretary ]
  • Com. John Verghese

    [ Deputy General Secretary ]
  • Com. Irfan Pasha

    [ Treasurer ]

Dada Ghosh Bhawan, 2151/1, New Patel Nagar, Opp. Shadipur Bus Depot, New Delhi- 110008

011-25705385(Office), 011-25894862(Fax)

envelopebsnleuchq@gmail.com
image
image image image image image image

Office bearers
+-

Office bearers

  • Com. Animesh Mitra

    [ President ]
  • Com. P. Abhimanyu

    [ General Secretary ]
  • Com. John Verghese

    [ Deputy General Secretary ]
  • Com. Irfan Pasha

    [ Treasurer ]

Dada Ghosh Bhawan, 2151/1, New Patel Nagar, Opp. Shadipur Bus Depot, New Delhi- 110008

011-25705385(Office), 011-25894862(Fax)

envelopebsnleuchq@gmail.com

BSNL Employees Union (CHQ), New Delhi

30 - Mar - 2019
Hindi translation of "Finance Ministry unconvinced to allot 4G spectrum to BSNL."

BSNL को 4G स्पेक्ट्रम आवंटित करने हेतु वित्त मंत्रालय सहमत नही...
दिनांक 28-03-2019 के न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार वित्त मंत्रालय BSNL को 4G स्पेक्ट्रम आवंटित करने हेतु  सहमत नही है।  अखबार की खबर के अनुसार स्पेक्ट्रम का अनुमानित मूल्य रु 13,885 करोड़ है। सरकार को प्रस्तुत अपने प्रस्ताव में BSNL ने कहा है कि इस राशि का 50% BSNL 10 समान किश्तों में भुगतान करेगा और  शेष 50% का सरकार द्वारा अपनी पूंजी (capital infusion) के माध्यम से समायोजन किया जाएगा। इसका मतलब यह हुआ कि सरकार अपनी शेयर कैपिटल में लगभग रु 6942.50 करोड़ की वृद्धि करेगी। वस्तुतः, सरकार को इस हेतु अपनी ओर से एक नया पैसा भी खर्च नही करना है। ऐसे में, वित्त मंत्री BSNL को 4G स्पेक्ट्रम के आवंटन के पक्ष में क्यों नही है ? ज्ञातव्य है कि पूर्व में नीति आयोग ने भी  BSNL को 4G स्पेक्ट्रम के आवंटन का विरोध किया है। क्या नीति आयोग और वित्त मंत्रालय इस तथ्य को भूल गए हैं कि BSNL सरकार की अपनी कंपनी है ? अब स्थिति बिल्कुल स्पष्ट है। सरकार यह कदापि नही चाहती कि BSNL का रिवाइवल हो और वह रिलायंस जियो के सुदृढ प्रतिस्पर्धी के रूप में उभरे।

30 - Mar - 2019
Why BSNLEU opposes VRS.

The IIM-Ahmedabad has recommended VRS and rolling back of the retirement age from 60 to 58, as a measure for the financial revival of BSNL. BSNLEU opposes VRS and has informed the Management that VRS will not bring the desired result of revival of BSNL. However, some organisations welcome VRS. Especially, the Directly Recruited Employees believe that, VRS will help to turn BSNL into a financially healthy organisation. We have written an article in the April issue of the Tele Crusader, explaining why we oppose VRS..

View File

30 - Mar - 2019
Hindi translation of "Why BSNLEU opposes VRS."

BSNLEU का VRS को विरोध क्यों ?
IIM अहमदाबाद ने BSNL के वित्तीय पुनरुत्थान के लिए VRS और रिटायरमेंट की उम्र पुनः 60 से 58 करने की सिफारिश की है। BSNLEU  ने VRS का विरोध किया है और मैनेजमेंट को सूचित किया है कि VRS से BSNL के वित्तीय पुनरुत्थान हेतु अपेक्षित परिणाम नही मिलेंगे। बहरहाल, कुछ संगठन VRS का स्वागत कर रहे हैं। विशेष तौर पर, डायरेक्टली रिक्रूटेड कर्मचारी ऐसा मान रहे हैं कि VRS से BSNL वित्तीय रूप से सक्षम संगठन में परिवर्तित हो जाएगा। हमने टेली क्रूसेडर के अप्रैल 2019 के अंक में, हम VRS का विरोध क्यों कर रहे हैं , यह स्पष्ट करते हुए एक आलेख (article) लिखा है।

30 - Mar - 2019
Com.S.D. Chaudhari, retires on superannuation.

Com. S.D. Chaudhari, Circle Secretary, Telecom Factory (Mumbai), as well as Organising Secretary (CHQ), retired from service on superannuation, today. He entered in the service in the year 1982, as Examiner in the Telecom Factory. Com. S.D. Chaudhari, together with other pioneers like Com.S.A. Tendulkar, started BSNLEU in Telecom Factory(Mumbai). Earlier, Com.S.D. Chaudhari has served the organisation in the capacities of Vice President (CHQ) and Organising Secretary (CHQ). The CHQ wishes a long, healthy and peaceful retired life to Com.S.D. Chaudhari.

29 - Mar - 2019
The 8th Circle Conference of BSNLEU, West Bengal Circle started at Bolpur today.

The 8th circle conference of BSNLEU, West Bengal circle, started at Bolpur today. The 3 day Circle Conference is being presided over by Com.Naajesh Naurosh, Circle President. Com. Animesh Mitra, Circle Secretary, welcomed everyone. Com.P. Abhimanyu, General Secretary, inaugurated the conference. In his speech, the General Secretary dwelt upon the deferred indefinite strike, 3 day strike, present status of the various issues and on the general political situation of the country.  Thereafter, the Subject Committee started. Com.Animesh Mitra, Circle Secretary, placed the report on activities, based on which deliberations by the delegates started and is going on.

View File

29 - Mar - 2019
Information on IDA increase.

2.6% IDA increase has become due from 1st April, 2019. With this, the IDA payable has become 141.4% (138.8% + 2.6% = 141.4%) Orders will be issued in due course.

28 - Mar - 2019
Meeting between CMD BSNL and the representatives of the AUAB.

A meeting between the representatives of the AUAB and Shri Anupam Shrivastava, CMD BSNL, was held today the 28.03.2019. Ms. Sujata T. Ray, Director (HR) was also present. Com.P. Abhimanyu, Convenor, AUAB, Com.Chandeswar Singh, Chairman, AUAB, Com.K. Sebastin, GS, SNEA, Com. Prahlad Rai, GS, AIBSNLEA, Com. Pathak, AGS, AIGETOA, Com.Suresh Kumar, GS, BSNL MS, Com.Rewati Prasad, BSNL ATM and com.Kabeer Das, GS, BSNL OA, participated in the meeting. The following issues were discussed.


(1)    Imposition of break-in-service under FR 17 A.

The AUAB has already written to the CMD BSNL, stating that break-in-service under FR 17 A, cannot be imposed on BSNL employees, since it is not part of the CDA rules. In today’s meeting, the representatives of AUAB insisted for expeditious action by the Management, on this issue. The CMD BSNL and the Director (HR) assured to do the needful.


(2)    Wrong calculation in the wage cut.

The representatives of the AUAB pointed out that the wage cut, for participation in the 3 day strike, has been done based on wrong calculation. That is, the three day wages has been arrived, by taking 28 days as a month’s salary. Instead, a month’s salary should be calculated as 30 days. As a result, more money has been deducted from the salary of the employees. Further, three days wage cut should be calculated on basic pay and DA only. But in many places, this calculation has been done wrongly. The CMD BSNL and Director (HR) assured to do the needful on this.


(3)    March to Sanchar Bhawan – provoking instruction given by the BSNL Corporate Office.

The SR Branch of the BSNL CO., has sent an instruction to the CGMs, directing that the principle of ‘no work no pay’ should be implemented on those employees who take part in the March to Sanchar Bhawan. It was pointed out by the AUAB representatives that, as per rules, the principle of ‘no work no pay’ cannot be imposed on employees for their participation in the rallies. Responding to this, the Director (HR) said that, she was not aware of any such instruction having been issued by the Corporate Office, and assured to look into it.

 

The CMD BSNL informed the representatives of the AUAB that, the March salary will be paid to the employees on time and he also told that this payment of salary is being made purely from BSNL’s own earnings. 

28 - Mar - 2019
Hindi translation of "Meeting between CMD BSNL and the representatives of the AUAB."

 

CMD BSNL और AUAB के प्रतिनिधियों के बीच मीटिंग...
आज दिनांक 28.03.2019 को AUAB के प्रतिनिधियों और श्री अनुपम श्रीवास्तव, CMD BSNL के बीच मीटिंग सम्पन्न हुई। श्रीमती सुजाता रे, डायरेक्टर (HR) भी उपस्थित थीं। मीटिंग में कॉम पी अभिमन्यु, GS, BSNLEU व कन्वेनर, कॉम चंदेश्वर सिंह,GS,NFTE व चेयरमैन, कॉम सेबेस्टिन,GS,SNEA, कॉम प्रह्लाद राय,GS,AIBSNLEA, कॉम पाठक,AGS,AIGETOA, कॉम सुरेश कुमार, GS,BSNL MS, कॉम रेवती प्रसाद, AGS,BSNL ATM एवं कॉम कबीर दास, GS,BSNL OA शामिल हुए। निम्न मुद्दों पर चर्चा हुई।


(1)    FR 17 A के अंतर्गत ब्रेक इन सर्विस लागू करना

AUAB द्वारा CMD BSNL को पहले ही लिखा जा चुका है कि  CDA रूल्स में प्रावधान नही होने से FR 17 A के अंतर्गत बीएसएनएल कर्मियों पर ब्रेक इन सर्विस लागू नही किया जा सकता है। आज की मीटिंग में AUAB के प्रतिनिधियों ने जोर दे कर कहा कि इस मुद्दे पर मैनेजमेंट द्वारा त्वरित कार्यवाही हो। CMD BSNL और डायरेक्टर (HR) ने इस संबंध में शीघ्र ही यथोचित कार्यवाही करने बाबद आश्वस्त किया।


(2)    वेतन कटौती में गलत गणना  

AUAB के प्रतिनिधियों ने ध्यान दिलाया कि 3 दिवसीय हड़ताल की वेतन कटौती गलत गणना के आधार पर की गई है। 3 दिन के वेतन की गणना एक माह में 28 दिन का वेतन मान कर की गई है। जबकि यह गणना एक माह में 30 दिन मान कर की जानी चाहिए। इसकी वजह से कर्मचारियों के वेतन से ज्यादा राशि काटी गई है। इसके अलावा तीन दिन कटौती की राशि की गणना में मूल वेतन व DA ही शामिल किया जाना चाहिए। किन्तु काफी स्थानों पर यह गणना गलत तरीके से की गई है। CMD BSNL और डायरेक्टर (HR) ने इस पर उचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया है।


(3)    मार्च टू संचार भवन : बीएसएनएल कॉर्पोरेट ऑफिस द्वारा उत्तेजित करनेवाले निर्देश जारी  

बीएसएनएल कॉर्पोरेट ऑफिस के एस आर ब्रांच  द्वारा सभी CGMs  को मार्च टू संचार भवन में शामिल होने वाले कर्मचारियों पर " नो वर्क नो पे " का सिद्धान्त लागू करने के निर्देश जारी किए हैं। AUAB के प्रतिनिधियों ने ध्यान दिलाया कि नियम के अनुसार रैली में शामिल होने वाले कर्मचारियों पर " नो वर्क नो पे " का सिद्धान्त लागू नही किया जा सकता है। इस पर प्रतिक्रिया स्वरूप, डायरेक्टर (HR) ने बताया कि इस तरह के निर्देश जारी हुए हैं, इस बाबद उन्हें कोई जानकारी नही है। यदि ऐसा है तो वें इसका संज्ञान लेंगी।

CMD BSNL ने AUAB के प्रतिनिधियों को सूचित किया कि मार्च 2019 के वेतन का भुगतान समय पर होगा। उन्होंने यह भी बताया कि वेतन भुगतान बीएसएनएल द्वारा अर्जित रेवेन्यू से ही किया जा रहा है।

27 - Mar - 2019
Without comment.

27 - Mar - 2019
CEC meeting at Ghaziabad to be addressed by President, CITU and Deputy General Secretary, WFTU.

The CEC meeting of BSNLEU, to be held at Ghaziabad on 06th & 07th April, 2019, is taking place at a time when BSNL is in a serious crisis, seriously impacting the future of it’s employees. That is why, this meeting has been advanced by two months. Com.K. Hemalata, President, CITU, will inaugurate the CEC meeting. Com. Swadesh Dev Roye, Deputy General Secretary of the WFTU, will also address the meeting.

27 - Mar - 2019
Hindi translation of "CEC meeting at Ghaziabad to be addressed by President, CITU and Deputy General Secretary, WFTU."

ग़ाज़ियाबाद में होने वाली सीईसी मीटिंग को अध्यक्ष, CITU और उप महासचिव, WFTU संबोधित करेंगे...
BSNLEU की ग़ाज़ियाबाद में 6 और 7 अप्रैल 2019 को होने जा रही सीईसी मीटिंग ऐसे समय हो रही है जब BSNL गंभीर संकट में है, जिसके गहरे असर से बीएसएनएल कर्मियों का भविष्य भी प्रभावित होगा। इसीलिए यह मीटिंग निर्धारित समयावधि के दो माह पूर्व ही की जा रही है। कॉम के हेमलता, अध्यक्ष, CITU सीईसी मीटिंग का शुभारंभ करेंगी। कॉम स्वदेश रॉय, उप महासचिव, WFTU भी संबोधित करेंगे।

26 - Mar - 2019
AUAB meeting reviewed the preparation for March to Sanchar Bhawan on 05.04.2019.

A meeting of the AUAB was held today the 25.03.2019, in the NFTE BSNL office. The representatives of BSNLEU, NFTE, SNEA, AIBSNLEA, BSNL OA, BSNL MS, AIGETOA and BSNL ATM were present. The meeting was presided over by Com.Chandeswar Singh, Chairman, AUAB and GS, NFTE BSNL. The meeting reviewed the preparation for the ensuing March to Sanchar Bhawan programme to be held on 05th April, 2019. All the unions and associations had given their expected number of members to be participated in the programme. The meeting decided to prepare a poster and the same will be send to all circles for circulation. The meeting further decided that the leaders of AUAB will be approaching to all political parties with request to address the gathering of the employees on that day. It is also decided that the General Secretaries / Representatives of AUAB will meet CMD BSNL on 27.03.2019 against repressive measures taken by the Management under FR 17A.

26 - Mar - 2019
Hindi translation of "AUAB meeting reviewed the preparation for March to Sanchar Bhawan on 05.04.2019."

AUAB की मीटिंग ने 05.04.2019 को आयोजित मार्च टू संचार भवन की तैयारी की समीक्षा की...
आज दिनांक 25.03.2019 को NFTE BSNL के कार्यालय में AUAB की मीटिंग सम्पन्न हुई। BSNLEU, NFTE, SNEA, AIBSNLEA, BSNL OA, BSNL MS, AIGETOA और BSNL ATM के प्रतिनिधि शामिल हुए। मीटिंग की अध्यक्षता कॉम चंदेश्वर सिंह,चेयरमैन, AUAB और GS, NFTE BSNL की। मीटिंग में 05.04.2019 को आयोजित किए जाने वाले आगामी मार्च टू संचार भवन कार्यक्रम की तैयारी की समीक्षा की गई। सभी यूनियन्स व एसोसिएशन्स ने कार्यक्रम में शामिल होने वाले सदस्यों की संभावित संख्या से अवगत कराया। मीटिंग में एक पोस्टर बनाने का भी निर्णय लिया गया, जिसे सभी सर्कल्स को प्रसारित करने हेतु प्रेषित किया जाएगा। मीटिंग में यह भी निर्णय लिया गया कि AUAB के लीडर्स  सभी राजनीतिक दलों से संपर्क कर उनसे उस दिन उपस्थित कर्मचारियों को संबोधित करने का अनुरोध करेंगे। यह भी तय किया गया कि AUAB के सभी महासचिव/ AUAB के प्रतिनिधि  मैनेजमेंट द्वारा FR 17A के तहत की गई दमनात्मक कार्यवाही के विरोध में  27.03.2019 को CMD BSNL से मिलेंगे।

26 - Mar - 2019
Meeting of Group Term Insurance (GTI).

A meeting of the Recognised Unions and Management on Group Term Insurance (GTI) was held on 25.03.2019. From Management Side, Shri Ashutosh Gupta, GM (Trg.) and Shri Goyal, DGM(Trg.), were present. BSNLEU was represented by Com.Swapan Chakraborty, Dy.GS and Com.Gakul Borah, Treasruer (CHQ). NFTE BSNL was represented by Com.Chandeswar Singh, GS and Com.Islamn Ahmed, President. At the outset the Management given the following informations to the Recognised Unions. 

 

  1. The LIC who has made GTI facility to Executives is ready to give the same insurance benefits to the Non-Executives and it has suggested that the sum assured of insurance can be kept at Rs.20 lakh for Non-Executives, which is within the preview of the Regional Office at New Delhi.
  2. If the insurance amount will be more than 20 lakh it may take long time since, it is to be processed by the LIC Head Quarter at Mumbai.
  3. The insurance in any case should restricted to 5 times of salary of an employee. Hence, the Non-Executives insured amount can be Rs.20 lakh approx.
  4. Since mortality rate is higher in case of Non-Executives, GTI may not be more than of Rs.20 lakh.
  5. If the terms and conditions of the GTI for Non-Executives is keeping at par with the Executive policy it may take less time for signing the agreement.
  6. According to Executive GTI policy, it is categorised in two groups of employees – i.e, (a) upto 50 years of age and (b)from 50 to 60 years.
  7. No saving benefits will be available in GTI.
  8. The premium should be in annual basis.

 

The representatives of the Recognised Unions expressed that they will discussed the matter in their respective levels and will come up with their suggestions / proposals within a short time.

25 - Mar - 2019
March to Sanchar Bhawan - circle secretaries to kindly note please.

A massive March to Sanchar Bhawan is being organised at New Delhi on 05-04-2019, as per the decision of the AUAB. The All India Centre of BSNLEU has already allotted quota to various circle unions, for mobilising comrades to the rally. This is a very important programme. Hence, all the circle unions are requested to kindly ensure that, the allotted number of comrades are mobilised from their circles. CHQ has arranged staying accommodation for the comrades coming from the faraway circles. Circle Secretaries may kindly inform the General Secretary on WhatsApp immediately, about the arrival and departure dates and times of the participants.

25 - Mar - 2019
Hindi translation of "March to Sanchar Bhawan - circle secretaries to kindly note please."

मार्च टू संचार भवन: सर्किल सेक्रेटरीज कृपया ध्यान दें...
AUAB के निर्णय अनुसार 05-04-2019 को नई दिल्ली में एक विशाल मार्च टू संचार भवन आयोजित किया जा रहा है। BSNLEU के ऑल इंडिया सेन्टर द्वारा मार्च में शिरकत करने हेतु विभिन्न सर्कल्स को कोटा निर्धारित किया जा चुका है। यह एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। अतः सभी सर्किल सेक्रेटरीज यह सुनिश्चित करें कि उनके सर्किल हेतु निर्धारित संख्या अनुसार हमारे कॉमरेड्स रैली में शामिल हों। दूरस्थ सर्कल्स से आने वाले साथियों के लिए सीएचक्यू द्वारा ठहरने हेतु व्यवस्था की गई है। सर्किल सेक्रेटरीज रैली में शामिल होने वाले अपने कॉमरेड्स की आगमन व प्रस्थान की तारीख व समय महासचिव को व्हाट्सअप पर सूचित करें।

23 - Mar - 2019
BSNLEU pays it's respectful homage to the martyrs.

It is on this day that, freedom fighters, Bhagat Singh, Sukhdev and Raj were hanged by British imperialists in 1931. The three martyrs sacrificed their life not only to remove the British tyranny, but also to end exploitation. While paying our respectful homage to the martyrs, BSNLEU vows to fight against all types of exploitations..

23 - Mar - 2019
Hindi translation of "March to Sanchar Bhawan and misleadings by mischief mongers."

 

मार्च टू संचार भवन और दुष्प्रचारकों का भ्रामक प्रचार...
AUAB द्वारा 05.04.2019 को मार्च टू संचार भवन आयोजित किया जा रहा है। ऐसी विकट स्थिति में भी कुछ दुष्प्रचारक कर्मचारियों को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं। वें यह सवाल कर रहे हैं कि जब आचार संहिता लागू हो चुकी है, दिल्ली में मार्च आयोजित करने का क्या औचित्य है ? यह सही है कि आचार संहिता लागू होने के पश्चात सरकार किसी भी प्रकार का नीतिगत निर्णय नही ले सकती है। किंतु, इसके साथ ही यह भी सच है कि अभी बीएसएनएल के वित्तीय रिवाइवल के लिए DoT को काफी प्रक्रियाएं पूर्ण करनी है, जो आचार संहिता के चलते भी की जा सकती है। उदाहरण के लिए , सरकार के नियम अनुसार पेंशन कॉन्ट्रिब्यूशन के भुगतान के क्रियान्वयन में आचार संहिता की बाधा नही रहेगी। यह केवल सरकार के पूर्व से अमल में लाए जा रहे नियम का बीएसएनएल में क्रियान्वयन मात्र होगा। इसी प्रकार से, बीएसएनएल द्वारा प्रस्तुत भूमि प्रबंधन नीति (Land Management Policy) का DoT द्वारा अनुमोदन आचार संहिता के लागू रहते भी किया जा सकता है। इससे बीएसएनएल को अपनी रिक्त जमीनों को मोनेटाइज करने और उससे भारी राजस्व अर्जित करने में तत्काल सहायता मिलेगी। बीएसएनएल को अपने ऑपरेशनल एक्सपेंडिचर के लिए बैंक लोन की अनुमति भी एक अहम मुद्दा है और इस पर भी आचार संहिता का प्रभाव नही होगा। और तो और, 3rd पे रिवीजन के मुद्दे पर भी DoT द्वारा काफी सारी पूर्व कार्यवाही (groundwork) की जानी चाहिए, जिससे कि लोकसभा चुनाव के तुरंत पश्चात नई सरकार को अंतिम निर्णय लेने में आसानी हो सके। और DoT द्वारा यह सब कुछ क्यों नही किया जा रहा है, यह एक अहम प्रश्न है। यह केवल DoT की बीएसएनएल विरोधी सोच की वजह से नही किया जा रहा है। इसीलिए, इस वक्त मार्च टू संचार भवन बेहद जरूरी है।

23 - Mar - 2019
March to Sanchar Bhawan and misleadings by mischief mongers.

The AUAB has given call to conduct a March to Sanchar Bhawan on 05.04.2019. At this juncture, some mischief mongers are trying to confuse the employees. They are asking what is the use of conducting a March at Delhi, when the Code of Conduct has already been put in place ? It is true that government cannot not take any policy decision after the Code of Conduct came into force. At the same time, a lot of works has to be done by the DoT, for the financial revival of BSNL, even while the Code of Conduct is in force. For example, the issue of implementation of Government Rule on payment of pension contribution, does not attract the Code of Conduct. It is only implementation of the already existing government order, in respect of BSNL. Similarly, giving approval for BSNL’s Land Management Policy, by the DoT, can be done even when the Code of Conduct is imposed. This will help BSNL to immediately monetise it’s vacant lands and to generate huge revenue. Giving approval for BSNL to take bank loans for it’s operational expenditures, is another important issue, which does not attract the Code of Conduct. Even on the 3rd Pay Revision issue, the DoT should complete it’s groundwork now itself, so that the new government can take a final call immediately after the Parliament elections. And why the DoT is not doing all these, is the most important question. It is because of DoT’s anti-BSNL mindset. Hence, the March to Sanchar Bhawan is very much required at this point of time.

23 - Mar - 2019
Hindi translation of "Allotment of 4G spectrum still not referred to the TRAI."

4G स्पेक्ट्रम आवंटन का मसला अभी तक TRAI को विचारार्थ प्रस्तुत नहीं किया गया है...
बीएसएनएल को 4G आवंटन के संबंध में मीडिया द्वारा यह प्रसारित किया गया था कि यह प्रकरण DoT द्वारा TRAI को विचारार्थ प्रेषित किया जाएगा। किन्तु, अब लगभग डेढ़ माह बाद TRAI का कहना है कि यह प्रकरण उन्हें नहीं भेजा गया है। क्या यह लंबित करने की रणनीति (tactics) है ? ज्ञातव्य है कि नीति आयोग ने भी बीएसएनएल को 4G आवंटन पर आपत्ति ली है। उन्होंने यह सवाल उठाया है कि, जब निजी कंपनियां 4G सेवाएं मुहैया करवा रही हैं तो बीएसएनएल को 4G स्पेक्ट्रम आवंटित करने की क्या आवश्यकता है। यह स्पष्ट रूप से दर्शाता है कि सरकार का और उनके नीति आयोग का सरकार की अपनी कंपनी बीएसएनएल के प्रति क्या नज़रिया है ?